Translate

important

Taj Mahal Controversy: History of Taj Mahal in Hindi(ताज महल का इतिहास)-Taj mahal insert face

ताजमहल जोकि भारत की शान और प्रेम का प्रतीक माना जाता है यह भारत की राज्य उत्तरप्रदेश की तीसरा सबसे बड़ा जिला आगरा में के यमुना नदी के किनारे पर बना है!भारत में आजकल ताजमहल पर controversy छिड़ा हुआ है इसलिए चलिए हम इस लेख के माध्यम से ताजमहल के इतिहास पर नजर डालते हैं,History of Taj Mahal in Hindi.

इस पूरी दुनिया मे सात अजूबे हैं जिनमे से एक हमारे भारत की शान ताजमहल भी शामिल है!


ताजमहल बहुत ही सुंदर दिखाई देता है और चांदनी रात में तो इसकी सुंदरता और भी बढ़ जाती है यह एक बड़े छेत्रफल वाले स्थान पर स्थित है और इसके पीछे यमुना नदी बहती है जो इसकी सुंदरता और भी बढ़ा देती है!


ताजमहल इमारत अपनी सुंदरता की वजह से पूरी दुनिया मे मशहूर है और इसे देखने देश विदेश से हर साल लगभग 70 से 80 लाख सैलानी आते हैं!


ताजमहल का निर्माण मुगल बादशाह शाहजहाँ ने अपने प्रिय पत्नी मुमताज़ महल की याद में करवाया था!

यह इमारत 1983 से यूनेस्को विश्व धरोहर की सूची में शामिल है और वर्ष 2007 में इसे विश्व के सात नए अजूबों में से पहले स्थान मिला था!


Taj Mahal


ताजमहल का इतिहास- History of Taj Mahal in Hindi

ताजमहल का निर्माण मुगल बादशाह शाहजहाँ ने अपनी बेगम(पत्नी) मुमताज़ महल के देहांत(मृत्यु) के बाद उनकी याद में 1632 ई० में शुरू करवाया था जो कि 1653 ई० में बन कर तैयार हुआ! ताजमहल मुमताज़ महल का मकबरा(कब्र) है जोकि लगभग 22 वर्षों में बन कर तैयार हुआ! मुमताज़ महल का मकबरा का निर्माण 1643 ई० में ही पूरा हो चुका था जबकि ताजमहल के अन्य कार्य पूरा करने में और 10 वर्षों का समय लगा!


माना जाता है कि ताजमहल के निर्माण में उस समय 1653 ई० में लगभग 3 करोड़ 20 लाख रुपए के अनुमानित लागत से पूरा हुआ था जिसकी वर्तमान कीमत लगभग 70 अरब रुपए (956 million USD) होता है!


शाहजहाँ ने ताजमहल का निर्माण क्यों करवाया?

ताजमहल प्रेम की निशानी माना जाता है! शाहजहाँ ने 20 वर्ष की उम्र में आसफ खाँ की बेटी आरजुमन्द बनों से वर्ष 1612 में निकाह(शादी) किया जो बाद में मुमताज महल के नाम से जानी गयी शाहजहाँ अपनी पत्नी मुमताज़ महल से बहुत प्यार करते थे और शाहजहाँ को वास्तुकला में बहुत रुचि था! वैसे तो शाहजहाँ को राजनीतिक कारणों की वजह से फारस की राजकुमारी क्वान्दरी बेगम से भी शादी करना पड़ा था लेकिन वो मुमताज़ महल से बहुत ज्यादा प्यार करते थे!


Shah Jahan and Mumtaz Mahal



किसी भी दौरे या जंग में मुमताज़ महल शाहजहाँ के साथ हुआ करती थी लेकिन वर्ष 1631 में अत्यधिक प्रसव पीड़ा की वजह से मुमताज़ महल की मृत्यु हो गयी!।मुमताज़ महल की मौत की वजह से शाहजहाँ बहुत दु:खी था! इसीलिए शाहजहाँ ने मुमताज़ की याद में ताजमहल का निर्माण करवाया!


ताजमहल की बनावट- structure of Taj Mahal

ताजमहल लगभग 42 एकड़ में फैला हुआ है जिसका मुख्य आकर्षण मुमताज़ महल का मकबरा या मुख्य इमारत है! इसके अलावा परिसर का प्रवेश द्वार और अन्य इमारते जैसे ताजमहल मस्जिद,अतिथि गृह,चार बाग़,मीनारे,छतरियां ये सभी मिलकर इसकी सुंदरता और ज्यादा बढ़ा देती है!


इसका मुख्य आकर्षण मुमताज़ महल का मकबरा है जो कि 23 फीट ऊंचे चबूतरे पर बनाया गया है! और इसके चारों कोणों पर एक एक मीनार बनाया गया है जो मुख्य ढांचे को स्थिरता प्रदान करने का कार्य करता है!


इसका मुख्य प्रवेश द्वार लगभग 93 फ़ीट ऊंचा है यह भी बारीक जड़ाई एंव नक्काशी का उत्कृष्ठ नमूना है!दरवाजे के बाहरी भाग में सफेद संगमरमर की सतह पर कुरान की कुछ आयतें अंकित हैं!


मुमताज महल के मकबरे के पश्चिम में ताज मस्जिद भी बनवाया गया है जिसका निर्माण लाल बलुआ पत्थर तथा कुछ स्थानों पर आयताकार सफेद संगमरमर की जड़ाई से किया गया है! यह मस्जिद ताजमहल की सुंदरता को और बढ़ा देता है! मस्जिद के सामने और मकबरे के पूर्व एक और इमारत का निर्माण किया गया है जो अतिथि गृह है!


ताजमहल का निर्माण- Construction of Taj Mahal

अपनी खूबसूरती से मशहूर ताजमहल का निर्माण 1632 ई० में शुरू हो चुका था और यह 1653 ई० में बन कर तैयार हुआ जो की लगभग 22 वर्ष होता है!


ताजमहल को मुग़ल वास्तुकला का सबसे अच्छा उदाहरण माना जाता है जिसके निर्माण में मध्य एशिया और बाहर से लगभग 20 हजार कारीगरों ने काम किया ताजमहल भारतीय,फारस और इस्लामी शैलियों का मिश्रण है!


कहा जाता है कि निर्माण सामग्री के परिवहन में लगभग 1000 से अधिक हाथियों का उपयोग किया गया था! ताजमहल के सफेद संगमरमर में जड़े कीमती पत्थरों में चीन से जेड और क्रिस्टल,श्रीलंका से नीलम,तिब्बत से फ़िरोज़,अरब से कार्नेलियन और अफ़ग़ानिस्तान से लेपिज लाजुली समेत कुल मिलाकर 28 प्रकार की बहुमूल्य पत्थर एंव रत्न सफेद संगमरमर में जड़ाए गए थे!


ताजमहल इमारत बनाने में मुख्य वास्तुकार की भूमिका उस्ताद अहमद लाहोरी ने अदा किए थे! इसे बनाने के लिए सीरिया एंव ईरान से सुलेखन कर्ता,उज्बेकिस्तान के बुखारा से शिल्पकार,दक्षिण भारत से पच्चीकारी के कारीगर,बलूचिस्तान से पत्थर तराशने एवं काटने वाले कारीगर,कंगूरे,बुर्जी एंव कलश आदि बनाने वाले कारीगरों समेत सत्ताइस कारीगर शामिल थे!


इन्होंने इस खूबसूरत इमारत बनाने एंव तराशने में अपना अहम योगदान दिया! इन सभी कारीगरों के दिशा निर्देश में लगभग 20 हजार से अधिक मजदूरों में काम किया!


ताजमहल से संबंधित कुछ प्रश्नोत्तर- Some Question and Answer related to Taj Mahal.

ताजमहल को ले कर लोगों के मन मे कई सारे प्रश्न उठते रहते हैं जिसका उत्तर नीचे दिया गया है!


What is Taj Mahal famous for? ताजमहल किस वजह से मशहूर है?

ताजमहल को शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज़ महल की याद में बनवाया था जिसे प्रेम का प्रतीक माना जाता है! ताजमहल भारत मे मुस्लिम कला का गहना है और ताजमहल अपनी खूबसूरती से पूरी दुनिया मे मशहूर है!


What is inside the Taj Mahal? ताजमहल के अंदर क्या है?

ताजमहल के अंदर मुमताज़ महल और शाहजहाँ का मकबरा(कब्र) शाहजहाँ के मृत्यु के बाद शाहजहाँ के शरीर को भी मुमताज़ महल के कब्र के बगल में दफना दिया गया था!


How many rooms are there in Taj Mahal? ताजमहल में कितने कमरे हैं?

ऐसा माना जाता है कि ताजमहल में लगभग 1000 गुप्त कमरे हैं और ये कमरे कहां पर खुलते हैं ये किसी को नही पता है ये भी माना जाता है कि इन कमरों में खजाने को छुपा कर रखा गया है!


How many doors are there in Taj Mahal? ताजमहल में कितने दरवाजे हैं?

ऐसा माना जाता है कि ताज़महल में लगभग 222 दरवाजे हैं!


Why are Taj Mahal's rooms locked? ताजमहल के कमरे क्यों बन्द हैं?

ताजमहल के कुछ कमरे मार्बल के बने हुए हैं और वो बन्द हैं ऐसा इसलिए क्योंकि अगर तहखाने में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा अगर बढ़ती है, तो वो कैल्शियम कार्बोनेट में बदल सकती है। कार्बन डाइऑक्साइड मार्बल्स को पाउडर का रूप देना शुरू कर देते हैं और इसकी वजह से दीवारों को नुकसान पहुंच सकता है। ताजमहल की दीवारों को नुकसान से बचाने के लिए यहां के तहखानों को बंद कर दिया गया है।


Why are Taj Mahal's 22 doors closed? ताजमहल के 22 दरवाजे बंद क्यों हैं?

ताजमहल के 22 दरवाजे मुग़लकाल से ही बंद हैं इन दरवाजों को पहली बार वर्ष 1934 में खोला गया गया था!

ये दरवाजे(कमरे) इसलिए बन्द है क्योंकि ये कमरे मार्बल के बने हुए हैं और अगर इन कमरों को खोल जाता है तो तहखाने में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा बढ़ सकती है और वो कैल्शियम कार्बोनेट में बदल सकती है! कार्बन डाइऑक्साइड मार्बल को पाउडर का रूप देना शुरू कर देता है और इसकी वजह से दीवारों को नुकसान पहुंचा सकता है!


What is in the locked room of Taj Mahal? ताजमहल के बंद कमरे में क्या है?

ताजमहल के कुछ बन्द कमरों को समय समय पर रेस्टोरेशन के लिए खुलवाया भी जाता है इन बन्द कमरों में कुछ नही है!


Read this also:

>Khan sir biography in hindi.

>UPSC full form in hindi.

>Real ways to earn money online.

>How to apply for scholarship.


निष्कर्ष

ताजमहल को मुग़ल बादशाह शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज महल की याद में बनवाया था ताजमहल में मुमताज महल और शाहजहाँ का मकबरा है यह भारत की सबसे खूबसूरत इमारत है जिसे शाहजहाँ ने 1632 में बनवाना शुरू किया और 1653 में बन कर तैयार हुआ!


मुझे उम्मीद है कि आपको इस लेख से ताजमहल के बारे में काफी कुछ जानने को मिला होगा! ताजमहल से संबंधित अगर आपके मन मे कोई प्रश्न है तो नीचे कमेंट करें हम आपको उसका रिप्लाई देने की पूरी कोशिश करेंगे!

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad